* मुखपृष्ठ * * परिचय * * टैली इनर्जी * * रोमन-हिन्दी * * महाशब्दकोश * * कनवर्टर * * हिन्दी पैड * * संपर्क *
" जीवन पुष्प में आप सभी का हार्दिक स्वागत है "

" प्रकृति की गोद में खिला एक सुंदर कोमल पुष्प कली से फूल बनकर अपने सम्पूर्ण वातावरण को सुगन्धित करने का ध्येय रखते हुये कभी गर्मियों की तपिश, तो कभी बरसातों की बौछार, तो कभी शर्दियों की ठिठुरन और ना जाने क्या क्या सहकर ये अपने अस्तित्व को कायम रखने के लिए हर संभव कोशिश करता है। ये आने वाली पीढ़ी का सृजन कर मुरझाकर सूख जाता है और धरती पे गिरकर मिट्टी में विलीन हो जाता है। हमारा संपूर्ण मानव जीवन भी एक पुष्प के समान है...। "

Followers

05 December, 2011

तुम्हारे जन्मदिन पर...

बहुत-बहुत बधाई ...! 



तुम्हें जन्मदिन पर 
मैं  क्या दे सकता हूँ 
स्नेह, प्यार और डांट
जो देते आया हूँ 
बस, आज भी मैं तुमको 
वही दे सकता हूँ 
या फिर कहो तो
 बचपन की कुछ
 कशिश लिख सकता हूँ !


आज तुम्हारा जन्मदिन है
हमें याद वो दिन है 
कितना कर्णप्रिय लगता था 
तेरी तोतली बोली
रोज धूल में लोटकर 
तुम खेलते थे होली...!

तेरे नन्हें हाथों का 
वो कोमल स्पर्श 
मेरी उँगली पकड़ कर 
चलने का संघर्ष
कभी किसी को
गालो पे गूगली 
कभी किसी के 
कानो में उँगली .. 
क्या याद है तुझे ?
तेरी हर शरारत तो 
याद है मुझे...!

हमदोनो मिलकर 
झूला करते थे 
अंडी के पेड़ पर
खेला करते थे 
बाजरे के ढेर पर
कच्ची सड़क पर
सरपट दौड़ते थे
दीदिया से हर दिन 
खूब झगड़ते थे...!

गर्मियों में बैठकर
दादी के संग
अपने आँगन में
थी कितनी उमंग...!
सुनते थे हमसब
लालपरी की कहानी
काश ऐसा होता 
फिर लौट आती 
वो जिंदगानी ..!

खेतो के मेड़ पर
नन्हें कदमों के साथ
पानी को लिये हाथ
देने जाते थे
दादाजी को खेत में
कभी गिर भी पड़ते थे
धँसते थे कोमल पाँव
मिट्टी के रेत में !

जब गाँव के पोखर में
लगाते थे डूबकी
घर आकर सुनते थे
अम्मा की झिड़की
झांकते थे घर से
थी छोटी-सी खिड़की
अब न वो खिड़की रही
और, न वो घर रहा
सब दूर-दूर हो गये
सबका अलग बसर रहा
पता है इन सबका
कितना असर रहा..?




अब तो बचपन की
कुछ यादें रह गई है
और आगे रह गई है
कुछ साधना
कुछ भी हो लेकिन
तेरे - मेरे बीच में
बनी रहे हमेशा
एक मधुर भावना
बस ईश्वर से मेरी
है इतनी आराधना
तेरी पूर्ण हो जीवन की
हर मनोकामना ...!

22 comments:

Abnish said...

lots of thanks bhaiya
bhut2 bhut achhi
mera t sara bachpan laut aaya padhne ke bad

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

सुंदर बचपन की यादें .... अबनीश को जन्मदिन की शुभकामनायें

रविकर said...

शुभकामनायें अवनीश !!

सुन्दर प्रस्तुति पर बधाई स्वीकारें ||

chitrayepanne.blogspot.com

anju(anu) choudhary said...

aapke chhote bhai ke ...jnam din kii shubhkamnayne.....

ana said...

sundar wa bhawuk prastuti.....janmadin mubarak

Reena Maurya said...

avnish ji ko janmdin ki shubhakamnaye...

sangita said...

bhavpuran uphar hae ye aapke bhi ke liye use janma din ki shubhakamnayen

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत सुन्दर प्रविष्टि...वाह!

चैतन्य शर्मा said...

हैप्पी बर्थ डे मेरी और से भी....

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...

.

~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤
*छोटे भाई अवनीष को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं !*
आशीर्वाद !!

…और मनीष जी
आप सभी परिवार जनों को
हार्दिक बधाई !
- राजेन्द्र स्वर्णकार
¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤
~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~

poonam said...

janmdin bhut bhut mubark.....bahut umda rachna...

Babli said...

आपने अबनीष के जन्मदिन पर बहुत ही सुन्दर और अनमोल तोफहा रचना के तौर पर दिया है जो आपके भाई को बेहद पसंद आयेगा! बहुत सुन्दर और भावपूर्ण रचना लिखा है आपने! अबनीष को मेरी तरफ से जन्मदिन की ढेर सारी बधाइयाँ और शुभकामनायें दीजियेगा!

दिगम्बर नासवा said...

बहुत बहुत शुभकामनाएं हमारी तरफ से भी ...

Rachana said...

sunder kavita bhai ko janmdin ki shubhkamnayen
rachana

प्रेम सरोवर said...

अंतस के भावों से सुंदर शब्दों में पिरोयी गयी आपकी रचना बेहद ही अच्छी लगी । मेर नए पोस्ट "आरसी प्रसाद सिंह" पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद

Sunil Kumar said...

जन्मदिन की हार्दिक बधाई छोटे भाई को हमारी ओर से भी

Mamta Bajpai said...

जन्म दिन की बधाई ..बहुत ही भाव पूर्ण रचना आभार

NISHA MAHARANA said...

यादों से भरी सुन्दर रचना।मेरी तरफ से भी छोटे भाई को बहुत-बहुत शुभकामना।

सोनरूपा विशाल said...

शब्दों का अनमोल तोहफा ......आपके भाई को मेरी ओर से जन्मदिन की शुभकामनायें !

डा. श्याम गुप्त said...

सुन्दर अति सुन्दर ...स्म्रितियां मन के पटल पर ....सुन्दर..

संजय भास्कर said...

janamdin ki shubhkaamnaye.....!

V.P. Singh Rajput said...

बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति ।
मेरा शौक
मेरे पोस्ट में आपका इंतजार है
आज रिश्ता सब का पैसे से

There was an error in this gadget

लिखिए अपनी भाषा में...

जीवन पुष्प

हमारे नये अतिथि !

Angry Birds - Prescision Select