* मुखपृष्ठ * * परिचय * * टैली इनर्जी * * रोमन-हिन्दी * * महाशब्दकोश * * कनवर्टर * * हिन्दी पैड * * संपर्क *
" जीवन पुष्प में आप सभी का हार्दिक स्वागत है "

" प्रकृति की गोद में खिला एक सुंदर कोमल पुष्प कली से फूल बनकर अपने सम्पूर्ण वातावरण को सुगन्धित करने का ध्येय रखते हुये कभी गर्मियों की तपिश, तो कभी बरसातों की बौछार, तो कभी शर्दियों की ठिठुरन और ना जाने क्या क्या सहकर ये अपने अस्तित्व को कायम रखने के लिए हर संभव कोशिश करता है। ये आने वाली पीढ़ी का सृजन कर मुरझाकर सूख जाता है और धरती पे गिरकर मिट्टी में विलीन हो जाता है। हमारा संपूर्ण मानव जीवन भी एक पुष्प के समान है...। "

Followers

02 March, 2012

पापा की अहमियत

तूफानों के मुख पर जाकर
हम अपना नीड़ बना बैठे !

तिनका-तिनका जीवन का 
 तोड़-तोड़ कर बिखरा बैठे !


चाहत थी मंजिल पाने की
पर, पग-पग हम भुला बैठे !

 जो ख्वाब सजे थे पलकों पे
हम एक फूँक में ही उड़ा बैठे !

रोये इतना हम फूट-फूटकर 
कि आँखों का नीर सूखा बैठे !

चुन-चुनकर बिखरे तिनके को
हमें पापा गले लगा बैठे !

फिर बाँट कर वो हर  गम मेरा  
हमें जीने की ललक जगा बैठे !

19 comments:

amrendra "amar" said...

waah, kya baat hai bahut khubsurat ahsas

वन्दना said...

बहुत संजीदा भाव

रविकर said...

NICE

संध्या शर्मा said...

बहुत सुन्दर भाव...

ऋता शेखर मधु said...

मन के भावों की सुंदर अभिव्यक्ति!

vidya said...

सुन्दर भाव...
आशा है आपकी रचनाएँ नियमित पढ़ने का अवसर मिलता रहेगा..

Reena Maurya said...

बहुत ही बढ़िया रचना है..
ये खबर अपने अच्छी सुनाई है
की ,आप अब से नियमित रहेंगे..
बहुत बढ़िया है जी...:-)

dheerendra said...

सुंदर अभिव्यक्ति की भावपुर्ण बेहतरीन रचना,..
फालोवर बन गया हूँ,...

NEW POST...फिर से आई होली...

sangita said...

sundar,bhavbhini post hae aabhar,,

कविता रावत said...

bahut sundar komal bhav..
sundar prastuti..

anju(anu) choudhary said...

वाह क्या बात हैं जी ...बहुत खूब



हम किसी की क्या कहें
इस जग में खुद
को ही ...तमाशा
बना बैठे ...अनु

mahendra verma said...

कोमल भावों को अभिव्यक्त करती सुंदर रचना।

***Punam*** said...

bahut sundar...

Ashok said...

very nice post!

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

कल 05/03/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

Saras said...

सुन्दर भावपूर्ण अभिव्यक्ति

सतीश सक्सेना said...

प्रभावशाली रचना !
रंगोत्सव की शुभकामनायें स्वीकार करें !

Dr.NISHA MAHARANA said...

bahut badhiya.

vijaya pant tuli mountaineer said...

-------खूबसूरत अभिव्यक्ति

There was an error in this gadget

लिखिए अपनी भाषा में...

जीवन पुष्प

हमारे नये अतिथि !

Angry Birds - Prescision Select